भगवान कृष्ण की मृत्यु कैसे हुई ? | भगवान श्री कृष्ण कोन थे ?

भगवान श्री कृष्ण की मृत्यु का रहस्य क्या है ?

Hello दोस्तों आज हम बात करने वाले है. भगवान कृष्ण की मृत्यु का रहस्य क्या है ? हम सब जानते है की श्री कृष्ण भगवान थे, तो उनकी मृत्यु असंभव है. लेकिन भगवान होने के बावजूद भी श्री कृष्ण की मृत्यु कैसे हुई ? आज हम इसी रहस्य पर से पर्दा उठाएंगे और आप को भगवान श्री कृष्ण की मृत्यु का कारण पूरी जानकारी के साथ बतायेंगे.


भगवान श्री कृष्ण से जुड़े लोगो के कुछ सवाल क्या है ?

  • भगवान श्री कृष्ण कौन थे ?
  • भगवान कृष्ण की मृत्यु किसके हाथों से हुई थी ?
  • भगवान कृष्ण की मृत्यु कैसे हुई ?
  • भगवान कृष्ण की मृत्यु कब हुई ?

भगवान श्री कृष्ण कौन थे ? | Who was Lord Krishna ?

भगवान श्री कृष्ण विष्णु भगवान के 22 वे अवतार थे. इन्होने द्वापरयुग में अधर्मियों का नाश करने के लिए जन्म लिया था. श्री कृष्ण के पिता का नाम वासुदेव और माता का नाम देवकी था. श्री कृष्ण ने कारागार (जेल) में जन्म लिया था. भगवान श्री कृष्ण ने अपने इस जन्म के दोरान अपने मामा कंश का वध कर शांति की स्थापना की ! महाभारत युद्ध के दोरान अर्जुन के सारथि बनकर दुनिया को गीता का पाठ पढ़ाया. युधिष्ठिर को राजा बनाकर धर्म की स्थापना की !


भगवान कृष्ण की मृत्यु कैसे हुई ? How did Lord Krishna die ?

हिन्दू पोराणिक कथाओ में कई पेचीदा कहानियां प्रचलित है. लेकिन श्री कृष्ण की मृत्यु के बारे में आज भी बहुत ही कम लोगो को पता है. हम सब जानते है की भगवान कृष्ण का जन्म कैसे हुआ. लेकिन क्या आप जानते है की श्री कृष्ण की मृत्यु कैसे हुई थी ?

महाभारत युद्ध में जब दुर्योधन मारा गया तब उसकी माता गांधारी ने भगवान श्री कृष्ण को श्राप देते हुए कहा, यदि तुम चाहते तो इस युद्ध को रोक सकते थे. लेकिन तुमने भाइयो को एक-दुसरे से युद्ध करने दिया. गांधारी ने क्रोध में आकर श्री कृष्ण को कहा आपकी मृत्यु आज से 36 वर्ष बाद एकांत में होगी. और पूरा यदुवंश का विनाश हो जाएगा.

भगवान कृष्ण ने मुस्कुराते हुए अपने ऊपर लगा श्राप स्वीकार कर लिया. ठीक 36 वर्षो बाद श्री कृष्ण वन में बैठे थे. तब एक शिकारी ने उन्हें अपने तीर से मार दिया. भगवान श्री कृष्ण का पूरा यदुवंश धीरे-धीरे समाप्त हो गया, और द्वारिका समुंद्र में डूब गयी. आज भी द्वारिका नगरी अरबसागर के नीचे है.


भगवान कृष्ण की मृत्यु कब हुई ? | When did Lord Krishna die ?

एक दिन जब भगवान श्री कृष्ण वन में बेठ कर आराम कर रहे थे. तब वहा एक शिकारी आया. शिकारी ने कृष्ण के पेरो के निचे कमल के चिन्ह को देखा और गलती से उन्हें एक जानवर समज लिया. शिकारी ने एक तीर छोड़ा जो सीधा जाकर भगवान को लगा. शिकारी को गलती का अहसास हुआ और सीधा भगवान कृष्ण के पास गया. भगवान ने उसे कहा यह निति के अनुसार ही हुआ है. अंत भगवान कृष्ण ने इस संसार को छोड़ दिया और द्वापरयुग समाप्त हो गया.

 YE BHI PADHE :- 


भगवान कृष्ण की मृत्यु किसके हाथो से हुई ? | By whose hands did Lord Krishna die?

ग्रंथो के अनुसार भगवान श्री कृष्ण को “जरा” नाम के एक शिकारी ने मारा था.

भगवान कृष्ण को मारने वाला शिकारी “जरा” कौन था : भगवान विष्णु के 21 वे अवतार राम भगवान ने जब वन में छुपकर वानर राज़ बाली को मार दिया था. तब बाली की मौत से उसकी पत्नी तारा बहुत दुखी हुई थी. और उसने क्रोध में आकर राम भगवान को श्राप देते हुए कहा था की जिस प्रकार तुमने मेरे पति को छिपकर मारा है, उसी प्रकार अगले जन्म में मेरा पति तुम्हे छिपकर मारेगा. 

दोस्तों कहा जाता है की बाली की पत्नी तारा के श्राप के कारण ही बाली ने द्वापरयुग में एक बहेलिये के घर में जन्म लिया था. उस जन्म में उसका नाम जरा था. जरा रात के समय अपने धनुष बाण से पेड़ो पर बैठे पशु-पक्षियों का शिकार करता था.

भगवान श्री कृष्ण के जन्म से ही उनके पेरो में एक निशान था. जो रात में बहुत चमकता रहता था. एक रात भगवान श्री कृष्ण नदी के तट पर आनन्द से पेड़ पर बैठे हुए थे. तब उनके पैर के निचे चमकते हुए निशान को देख बहेलिये जरा को लगा वह कोई पक्षी है, और उसने अपना बाण चला दिया. और इस कारण भगवान श्री कृष्ण की मृत्यु हो गयी.


 Conclusion :- 

उम्मीद है आपको हमारे द्वारा शेयर की गयी जानकारी “भगवान श्री कृष्ण कौन थे | भगवान कृष्ण की मृत्यु का रहस्य क्या था” उपयोगी लगी होगी.

दोस्तों अगर आपको पोस्ट अच्छी लगे तो शेयर जरुर करे. धन्यवाद्

 YE JARUR PADHE :- 

loading...

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *